चाइल्ड पोनोग्राफी

Whatsapp पर फैलाते थे चाइल्‍ड पोर्न, CBI ने 7 के खिलाफ दर्ज किया केस

चाइल्‍ड पोर्नोग्राफी के मामले में CBI ने 7 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इन सभी पर विभिन्‍न WhatsApp groups में चाइल्‍ड पोर्नोग्राफी से जुड़े कंटेंट को फैलाने का आरोप है. अब सीबीआई इस मामले की जांच कर रही है.

सीबीआई के अंतरराष्ट्रीय पुलिस सहयोग प्रकोष्ठ (आईपीसीसी) को 31 जनवरी 2019 को जर्मन दूतावास से एक कूटनीतिक पत्र प्राप्त होने के बाद शुरुआती जांच की गई. जांच के बाद मामला दर्ज किया गया. सीबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी इलेक्ट्रॉनिक रूप में चाइल्ड पोर्नोग्रफी की सामग्री प्रसाारित करने में लिप्त पाए गए हैं. आईटी ऐक्ट के सेक्शन 67 के तहत यह संगीन अपराध है.

दरअसल जर्मनी ने सास्चे ट्रैप्पके के बारे में सूचना दी थी, जिसे उस देश में बाल यौन दुर्व्यवहार और बच्चों से जुड़ी अश्लील सामग्री के वितरण के संबंध में पांच साल कैद की सजा सुनाई गई थी. जांच के दौरान यह सामने आया कि वह 29 वॉट्सऐप ग्रुप्स का हिस्सा था, जहां बाल अश्लील सामग्री साझा की जा रही थी. उन्होंने कहा कि इन समूहों में सात भारतीय मोबाइल नंबर भी थे.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया था कि 12 अक्टूबर को सुबह छह बजे छापा शुरू हुआ था, जो रविवार को करीब एक बजे समाप्त हुआ. पुलिस ने एक विज्ञप्ति में बताया कि गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से लैपटॉप, मोबाइल फोन मॉडम, हार्ड डिस्क, मेमोरी कार्ड, कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रोनिक उपकरण जब्त किए गए.

पुलिस ने बताया कि जिन वाट्सएप ग्रुपों (Whatsapp) पर बाल अश्लीलता फैलाई जा रही थी, उनकी भी पहचान कर ली गई है. पुलिस वाट्सएप, टेलीग्राम और फेसबुक पर विभिन्न ग्रुपों पर कड़ी नजर रख रही है. इंटरपोल की मदद से पुलिस द्वारा चलाया गया यह तीसरा विशेष अभियान था. इससे पहले अप्रैल और जून में ऐसा ही अभियान चलाया गया था. 

Related Posts

Popular News