shivam dube

शिवम दूबे ने 10 छक्कों के साथ जड़ा तूफानी शतक, केएल राहुल व मनीष पांडे भी पड़े फीके

विजय हजारे ट्रॉफी टूर्नामेंट (Vijay Hazare Trophy 2019-20) के एलीट ग्रुप ए और बी के एक मैच में मुंबई और कर्नाटक के बीच एक जोरदार मुकाबला देखने को मिला। इस मैच में टीम इंडिया के दो बल्लेबाज के एल राहुल (KL Rahul) व मनीष पांडे (Manish Pandey) ने अपनी टीम कर्नाटक के लिए जहां बेहतरीन अर्धशतकीय पारी खेली तो वहीं मुंबई के बल्लेबाज शिवम दूबे की तूफानी पारी देखने को मिली। शिवम ने जरूर शतकीय पारी खेली, लेकिन उनकी टीम मुंबई को फिर भी हार का सामना करना पड़ा। हालांकि शिवम की पारी के सामने राहुल व मनीष की पारी फीकी रही।

के एल राहुल व मनीष पांडे के अर्धशतक

कर्नाटक और मुंबई के बीच हुए मैच में पहले कर्नाटक ने बल्लेबाजी की और निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट पर 312 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। कर्नाटक को इस स्कोर तक ले जाने में टीम के ओपनर बल्लेबाज केएल राहुल और मध्यक्रम के बल्लेबाज मनीष पांडे का बड़ा योगदार रहा। राहुल ने एक तरफ जहां 57 गेंदों पर 58 रन की पारी खेली तो वहीं मनीष पांडे के बल्ले से 62 रन निकले। वहीं इस टीम के सलामी बल्लेबाज देवदत्त पेडिकल ने भी 79 रनों का शानदार योगदान दिया। राहुल और देवदत्त ने पहले विकेट के लिए 138 रन की बेहतरीन साझेदारी करके टीम के कमाल की शुरुआत दी।

शिवम दूबे ने ठोके 67 गेंदों पर 118 रन

कर्नाटक ने मुंबई को जीत के लिए 313 रन का बड़ा लक्ष्य दिया था। इस लक्ष्य का पीछा मुंबई की टीम शिवम दूबे (Shivam Dube) की तूफानी पारी के बावजूद भी नहीं कर पाई और पूरी टीम 48.1 ओवर में 303 रन पर ऑल आउट हो गई। मुंबई की टीम को ये मैच 9 रन से गंवाना पड़ा। मुंबई के मध्यक्रम के बल्लेबाज शिवम दूबे सही मायने में अपनी टीम के हीरो रहे पर वो टीम को जीत नहीं पाए और बेहद करीबी मैच में उनकी टीम को हार मिली।

शिवम दूबे ने इस मैच में 67 गेंदों पर 118 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 7 चौथे व 10 छक्के जड़े। उनका स्ट्राइक रेट 176.12 का रहा। शिवम के अलावा मुंबई की तरफ से यशस्वी जयसवाल ने 22 रन, आदित्य तारे ने 32 रन, सिद्धार्थ लाड ने 34 रन जबकि शर्दुल ठाकुल ने 26 रन बनाकर टीम को जीत दिलाने की कोशिश जरूर की, लेकिन इन्हें जीत नहीं मिल पाई। मुंबई के कप्तान श्रेयस अय्यर ने सिर्फ 11 रन बनाए। कर्नाटक की तरफ से अभिमन्यू मिथुन और कृष्णप्ता गौतम ने तीन-तीन जबकि प्रसिद्ध कृष्णा ने दो और रोनित मोरे व श्रेयस गोपाल ने एक-एक सफलता अर्जित की।

Related Posts

Popular News