तीन टीएमसी कार्यकर्ताओं की हत्या, कांग्रेस और भाजपा पर आरोप

पश्चिम बंगाल: 3 TMC कार्यकर्ताओं की हत्या, कांग्रेस और BJP पर आरोप

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद राजनीतिक हत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। मुर्शिदाबाद जिले में शुक्रवार को राज्य में तृणमूल कांग्रेस के तीन कार्यकर्ताओं की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मारे गए कार्यकर्ताओं में से दो की पहचान खैरुद्दीन शेख और सोहेल राणा के रूप में की गई है। टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या के लिए कांग्रेस और भाजपा को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। बताया जा रहा है कि मुर्शिदाबाद में अज्ञात लोगों ने टीएमसी कार्यकर्ताओं खैरुद्दीन शेख और सोहेल राणा के घर के अंदर बम फेंके, जिससे उनकी मौत हो गई। खैरुद्दीन के बेटे मिलान शेख ने कहा, “हम सो रहे थे, तभी हमारे घर पर बम फेंका गया। उन्होंने मेरे पिता की हत्या कर दी। कुछ दिन पहले मेरे चाचा की हत्या कर दी गई थी। इसके पीछे कांग्रेस का हाथ है। इस घटना के बाद से इलाके में तनाव है।” ।

दो मृतकों के परिजनों ने भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों पर हत्या का आरोप लगाया है। मृतक के एक रिश्तेदार ने कहा, ‘ये लोग हत्या के एक अन्य मामले में भी दोषी हैं। वे मेरे पीछे थे क्योंकि मैं उस मामले में गवाह हूं। कल, वे यहां आए और मुझे घर पर नहीं पाया और मेरे चाचा और भतीजे को मार डाला। ’’ पुलिस ने कहा कि इलाके में छापेमारी की जा रही है लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

महिला भाजपा नेता की गुरुवार रात को हत्या

इससे पहले, राज्य के उत्तर 24 परगना जिले में, एक महिला भाजपा नेता की गुरुवार रात कथित तौर पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। भाजपा नेताओं ने कहा कि भाजपा की महिला नेता सरस्वती दास उत्तर 24 परगना के हन्नीबल में अमलानी ग्राम पंचायत में एक सक्रिय कार्यकर्ता थीं। भाजपा नेताओं ने सरस्वती दास (42) की हत्या का आरोप तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों को लगाया है।

पिछले शनिवार से उत्तरी 24 परगना का माहौल गर्म है, जब संदेशखली में तृणमूल और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प में कम से कम तीन लोग मारे गए थे। भाजपा ने आरोप लगाया कि टीएमसी समर्थित बंदूकधारियों ने उनके दो कार्यकर्ताओं को गोली मार दी। इससे पहले, तृणमूल कांग्रेस के दो कार्यकर्ता दमदम और कूचबिहार में मारे गए थे। दमदम की घटना में एक भाजपा कार्यकर्ता और सुपारी किलर को गिरफ्तार किया गया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *